एनएच-74 की जद में आ रहे निर्माण का ध्वस्तीकरण प्राथमिकता के आधार पर किया जाय।

रुद्रपुर 12 मई – अपर जिलाधिकारी प्रताप सिंह षाह ने एनएच-74 की जद
में आ रहे सरकारी एवं निजी भवनों के ध्वस्तीकरण के सम्बन्ध में कलक्ट्रेट
सभागार में बैठक कर अधिकारियों को आवष्यक दिषा निर्देष दिये। एनएच-74 की
कार्यदायी संस्था गल्फार कम्पनी के अधिकारी ने बताया कि काशीपुर से
सितारगंज के मध्य एनएच-74 की जद में आ रहे 199 निर्माण ऐसे हैं जिनका
ध्वस्तीकरण प्राथमिकता के आधार पर किया जाना आवष्यक है तभी एनएच-74 चैडीकरण
कार्य तीव्र गति से हो पायेगा। एडीएम ने उप जिलाधिकारियों एवं पुलिस विभाग
के अधिकारियों को निर्देष दिये कि एनएच-74 की जद में आ रहे भवनों एवं
बाउण्ड्री वाल का ध्वस्तीकरण 15 मई से मिषनमोड में प्रारम्भ कर दिया जाय
ताकि एनएच-74 चैडीकरण तीव्र गति से हो सके। उन्होंने निर्देष दिये कि
एनएच-74 की जद में आ रहे सरकारी भवनों एवं बाउण्ड्रीवाल का ध्वस्तीकरण
प्राथमिकता के आधार पर किया जाय। एडीएम ने ईई जल संस्थान से वाटर पाईप लाईन
की षिफ्टिंग की प्रगति के बारे में जानकारी ली। जिस पर ईई जल संस्थान तरुण
षर्मा ने बताया कि वाटर पाईप लाईन षिफ्टिंग का अधिकांष कार्य पूर्ण कर
लिया गया है किन्तु वाटर पाईप लाईन षिफ्टिंग का जो कार्य अभी नहीं हुआ है
वह एनएच-74 की जद में आ रहे निर्मित भवनों के ध्वस्तीकरण न होने की वजह से
बाधित है। 
     बैठक में विषेश भूमि अध्याप्ति अधिकारी एनएस
नबियाल, एएसपी देवेन्द्र पिंचा, गल्फार कम्पनी से संतोश षर्मा व पीके
चैधरी, ईई जल संस्थान तरुण षर्मा, ईई विद्युत विनोद षर्मा आदि उपस्थित थे।
www.kashipurcity.com : News, Career, Technology. #adigitalpaper, Digital Khabar, Baal Ki Khaal, BKK News, Net Guru Online- NGO, UK News Live, Ye Bhi Sikhte hain,
शेयर करें

Leave a Reply