चिकित्सालय में उपलब्ध संसाधनों एवं सेवाओं का मरीजो को भरपूर लाभ दिया जाय- DM U S Nagar

रुद्रपुर 27 मार्च – जेएलएन जिला चिकित्सालय की प्रबन्धन समिति की
बैठक जिलाधिकारी नीरज खैरवाल की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट सभागार में
सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को
निर्देष दिये कि चिकित्सालय में उपलब्ध संसाधनों एवं सेवाओं का मरीजो को
भरपूर लाभ दिया जाय। उन्होंने कहा कि चिकित्सालय में चिकित्सा के जितने भी
संसाधन/उपकरण एवं जितनी भी प्रकार की चिकित्सा सेवाएं उपलब्ध हैं उनकी
विवरण सूची चिकित्सालय परिसर में चस्पा करने के साथ ही उपलब्ध चिकित्सीय
सेवाओं का व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाय ताकि आम जनता चिकित्सालय में
उपलब्ध सेवाओं का लाभ ले सके। निमार्ण कार्य सहित आय-व्यय की भ्रामक
रिपोर्ट देखकर कडी नाराजगी जाहिर करते हुए जिलाधिकारी ने चिकित्सा विभाग के
अधिकारियों को निर्देष दिये कि अगली बैठक में स्पश्ट व सही रिपोर्ट
प्रस्तुत की जाय, साथ ही उन्होंने सीएमओ से कहा कि रिपोर्ट प्रस्तुत करने
से पूर्व उसका ठीक प्रकार से अवलोकन अवष्य कर लिया जाय। उन्होंने निर्देष
दिये कि चिकित्सालय में आने वाले मरीजों के तीमारदारों की सुविधाओं को
ध्यान में रखकर चिकित्सालय में स्थाापित रैन बसेरे को विकसित किया जाय ताकि
मरीजों के तीमारदारों को रात्रि विश्राम हेतु इधर-उधर न भटकना पडे।
जिलाधिकारी ने निर्देष दिये कि मरीजों को चिकित्सालय परिसर में जेनेरिक
दवाईयों के साथ ही ब्राण्डिड दवाईयां भी उपलब्ध हो सके इस हेतु चिकित्सालय
में स्थापित मेडिकल स्टोर में ब्राण्डिड दवाईयां रखने हेतु योजना बनाई जाय
ताकि मरीजों को जेनेरिक दवाईयों के साथ-साथ ब्राण्डिड दवाईयां उचित दामों
में उपलब्ध हो सके। साथ ही उन्होंने मुख्य कोशाधिकारी को निर्देष दिये कि
मेडिकल व्यय को हर दो माह में आॅडिट किया जाय ताकि यह पता चल सके कि मेडिकल
मद में किस प्रकार की कितनी दवाईयों का क्रय किया गया है। उन्होंने कहा कि
चिकित्सालय परिसर में स्थापित 04 दुकानों में से न0-01 दुकान भारत सरकार
की योजना अन्तर्गत जेनेरिक दवाईयों का स्टोर, न0-02 मेडिकल स्टोर, न0-03
जनरल स्टोर एवं न0-04 दुकान इन्दिरा अम्मा कैंटीन के रुप में संचालित की
जाय ताकि लोगों को दवाईयों, आवष्यक वस्तुओं सहित उचित दामों में
गुणवत्तायुक्त भोजन भी उपलब्ध हो सके। समिति के सदस्यों द्वारा अवगत कराया
गया कि चिकित्सालय परिसर में स्थापित मेडिकल स्टोर के संचालक द्वारा काफी
लम्बी अवधि से स्टोर के किराये का भुगतान नहीं किया जा रहा है। इस पर
जिलाधिकारी ने सीएमएस को स्टोर संचालक से किराये का भुगतान न किये जाने का
कारण जानने सहित विधिवत कार्यवाही करने हेतु निर्देिषत किया। जिलाधिकारी ने
चिकित्सालय को प्राप्त होने वाली धनराषि का सदुपयोग करने के निर्देष देते
हुए कहा कि जनता के हित को ध्यान में रखकर ही धनराषि खर्च की जाय।
जिलाधिकारी ने सीडीओ की अध्यक्षता में 04 सदस्यीय कमेटी का गठन कर जिसमें
मुख्य कोशाधिकारी, सीएमओ एवं सीएमएस को सदस्य नामित करते हुए चिकित्सालय के
आय-व्यय का सही-सही विवरण प्रस्तुत करने के निर्देष दिये ताकि चिकित्सा के
किस मद में कितनी धनराषि खर्च हुई है इसकी सही जानकारी उपलबध हो सके। साथ
ही उन्होंने सीएमओ, मुख्य कोशाधिकारी एवं सीएमएस को निर्देष दिये कि
चिकित्सालय में जो कार्मिक रखे गये है वह किस आधार पर रखे गये है इसकी जांच
कर रिपोर्ट प्रस्तुत की जाय। समिति के सदस्यों की मांग पर जिलाधिेकारी ने
चिकित्सालय के मुख्य द्वार पर विद्युत व्यवस्था करने के निर्देंष सीएमओ को
दिये। साथ ही उन्होंने सीएमओ को यह भी निर्देष दिये कि राश्ट्रीय राजमार्ग
प्रा्रधिकरण के अधिकारियों को जिलाधिकरी की तरफ से पत्र प्रेशित कर
चिकित्सालय का विज्ञापन सम्बन्धी संकेतक एनएच के किनारे स्थापित करने हेतु
कहा जाय ताकि चिकित्सालय के समीप दुर्घटना होने की सम्भावना न रहे। 
 
 
  बैठक में सीएमओ एचके जोषी, मुख्य कोशाधिेकारी तृप्ति श्रीवास्तव,
पं्रमुख अधीक्षक चि0 पीसी पंत, सांसद प्रतिनिधि मनमोहन राय, विधायक
प्रतिनिधि डाॅ0 कपिल षर्मा, क्षेत्रीय प्रबन्धक सिडकुल रुद्रपुर के
प्रतिनिधि तुशार दीप धीमान, वी माला, पूरन राम, डाॅ0 एलएस टोलिया, अजय सिंह
आदि उपस्थित थे।
www.kashipurcity.com : News, Career, Technology. #adigitalpaper, Digital Khabar, Baal Ki Khaal, BKK News, Net Guru Online- NGO, UK News Live, Ye Bhi Sikhte hain,
शेयर करें

Leave a Reply