शहीद उधम सिंह के जीवन से प्रेरणा लेकर देश प्रेम का जज्बा पैदा करें – जिलाधिकारी – Shahid Udham Singh Jayanti

रुद्रपुर 26 दिसम्बर – भारत के स्वाधीनता संग्राम के महान क्रान्तिकारी एवं जलियांवाला बाग हत्याकाण्ड का बदला लेने वाले शहीद उधम सिंह जी की 117वीं जयन्ती जनपदभर में श्रद्धापूर्वक मनायी गई। मुख्य कार्यक्रम जिला मुख्यालय पर कलक्ट्रेट प्रागंण में आयोजित हुए जहां पर जिलाधिकारी चन्द्रेष कुमार, वरिश्ठ पुलिस अधीक्षक संेथिल अबुदई कृश्णराज, क्षेत्रीय विधायक राजकुमार ठुकराल व राजेष शक्ला, हरीष बावरा, जगदीश तनेजा, एडीएम प्रताप सिंह शाह व ईलागिरी सहित जनप्रतिनिधयों एवं विभिन्न विभागों के अधिकारियों/कर्मचारियों द्वारा शहीद उधम सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि अर्पित की गयी। वहीं विकास भवन में शहीद की जयन्ती के अवसर पर विचार गोश्ठी आयोजित हुई। विचार गोश्ठी में जिलाधिकारी ने कहा कि शहीद उधम सिंह के बलिदान को भुलाया नहीं जा सकता। उन्होंने कहा कि यह दिवस हमें सोचने पर विवश करता है कि हमारे देश में ऐसे देश प्रेमी रहे हैं जिन्होंने देश के गौरव के लिए अपने प्राणों की आहुति दे दी। उन्होंने कहा कि हमें शहीद उधम सिंह के जीवन से प्रेरणा लेकर देश के लिए कुछ कर गुजरने का जज्बा पैदा करना होगा। उन्होंने कहा कि यह जरुरी नहीं है कि देश का हर नागरिक सीमा पर जाकर लडे। देश का जो नागरिक जिस क्षेत्र में कार्यरत है उसे उसी क्षेत्र में कुछ बेहतर करना चाहिये, अपने दायित्वों का निर्वह्न ईमानदारी से करना चाहिये यही उसकी देष सेवा होगी। जिलाधिकारी ने कहा कि अगले वर्श से उधम सिंह जयन्ती पर अवकाष घोशित नहीं किया जायेगा। सभी विभागों के अधिकारियों/कर्मचारियों द्वारा षहीद उधम सिंह को श्रद्धाजंलि दी जायेगी। साथ ही विद्यालयों में गोश्ठियों का आयोजन किया जायेगा ताकि विद्यार्थियों षहीद उधम सिंह द्वारा किये गये कार्याें की जानकारी हो सके व उनमें देष प्रेम की भावना विकसित हो सके। 
     वरिश्ठ पुलिस अधीक्षक संेथिल अबुदई कृश्णराज ने कहा कि नई पीढी को देश के इतिहास के बारे में बताना चाहिए ताकि बच्चों में देश प्रेम की भावना विकसित हो सके। 
      विचार गोश्ठी में विधायक राजकुमार ठुकराल व राजेष शुक्ला, हरीश बावरा एवं मुख्य विकास अधिकारी आलोक कुमार पाण्डे ने भी अपने विचार रखे। 
        बता दें कि जलियांवाला बाग हत्याकाण्ड पंजाब प्रान्त के अमृतसर में 13 अप्रेल 1919 को बैषाखी के दिन हुआ था। इस दिन रोलेट एक्ट के विरोध में जलियांवाला बाग में विशाल जनसभा हो रही थी जिसमें जनरल ओडवायर नामक अग्रेंज आफिसर ने उपस्थित भीड पर गोलियां चलवा दी। इस नरसंहार में हजारों की संख्या में लोग मारे गये। हत्याकाण्ड के प्रत्यक्षदर्षी उधम सिंह का कहना था कि ब्रिटिष सरकार ने निर्दोश जनता का संहार किया है साथ ही राश्ट्रीय गौरव को भी अपमानित किया है। उधम सिंह ने इस हत्याकाण्ड का बदला लेने का प्रण लिया और 13 मार्च 1940 को लन्दन के वैक्सटन हाल में जलियावाला बाग हत्याकाण्ड के दोशी जनरल ओडवायर पर गोलियां चलाकर मार डाला। उधम सिंह को गिरफ्तार कर लिया गया और बाद में फांसी दी गई। ऐसे थे देषभक्त उधम सिंह। 
      इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी आलोक कुमार पाण्डे, जिला विकास अधिकारी अजय सिंह, एसडीएम पंकज उपाध्याय, विषेश भूमि अध्याप्ति अधिकारी डीपी सिंह, मुख्य कोशाधिकारी तृप्ति श्रीवास्तव, मुख्य षिक्षा अधिकारी पीएन सिंह, जिला षिक्षा अधिकारी डीसी सती, वरिश्ठ प्रषासनिक अधिकारी गोपाल दत्त पाण्डे, बलवीर सिंह सहित जनप्रतिनिधि एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे। 
Advance Digital Paper – www.adpaper.in & www.kashipurcity.com – न्यूज़, करियर , टेक्नोलोजी . #adigitalpaper, Baal Ki Khaal BKK News, Net Guru Online- NGO, UK News Live
शेयर करें

Leave a Reply