वृक्षारोपण एवं पर्यावरण संरक्षण को प्रोत्साहित किया जायगा

रुद्रपुर 08 जुलाई – वृक्षारोपण एवं पर्यावरण संरक्षण को प्रोत्साहित
 किये जाने के मकसद से 10 जुलाई से 18 जुलाई तक पूरे जनपद में हरेला
महोत्सव मनाया जायेगा। इस सम्बन्ध में जिलाधिकारी डाॅ0 पंकज कुमार पाण्डेय
ने सभी उप जिलाधिकारियों,खण्ड विकास अधिकारियों समेत विभिन्न सम्बन्धित
विभागों के अधिकारियों को निर्देष दिये हैं कि इस अवधि में हरेला महोत्सव
हेतु षासन ने जो प्रतिस्पर्धा की अनूठी पहल षुरू की है उसका अपने स्तर से
व्यापक प्रचार प्रसार करें ताकि लोगों में वृक्षारोपण व पर्यावरण संरक्षण
के प्रति जागृति पैदा हो सकें। जिलाधिकारी ने बताया कि प्रदेष की
सांस्कृतिक श्रंखला की परम्पराओं के तहत हरेला पर्व का विशिष्ट  स्थान है ।
उन्होंने बताया कि श्रावण मास की पहली गते को हरेला पर्व उत्तराखण्ड में
बडे उत्साह ,आस्था एवं धार्मिक श्रद्धा के साथ मनाया जाता है तथा इस दिन
प्रत्येक व्यक्ति किसी न किसी रूप में नये पौघों का रोपण कर पौधों का
संरक्षण निष्चित रूप से करते है। जिससे घरों के आस पास
फलदार,छायादार,सौन्दयीकृत पेड़ पौधों को बढावा मिलता है तथा पर्यावरण की
षुद्धता को बल मिलता है।जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को हिदायत दी
है कि वह इस कार्य में कतई लापरवाही न बरतें तथा पर्यावरण संरक्षण में अपनी
महत्वपूर्ण भूमिका निभायें।
जिलाधिकारी
ने बताया कि हरेला पर्व की महत्ता को दृश्टिगत रखते हुये एवं 10 जुलाई से
18 जुलाई तक मनाये जा रहे हरेला पर्व में धरती की शान वृक्षों के रोपण को
प्रोत्साहन देने के उद्देष्य से शासन द्वारा हरेला त्यौहार के सिलसिले में
हरेला प्रतिस्पर्धा आयोजित करने का निर्णय लिया गया है। जिसके अन्तर्गत
प्रत्येक ग्राम सभा की एक महिला जिनका हरेला सर्वोत्कृश्ट होगा को हरेला
पुरस्कार दिया जायेगा,पुरस्कार की राशि 500 रूपये प्रतिमाह होगी जो एक वर्श
तक के लिये देय होगी। उन्होंने बताया कि हरेला प्रतिस्पर्धा में पुरस्कार
चयन हेतु सम्ब्न्धित ग्राम प्रधान की अध्यक्षता में समिति गठित होगी,समिति
में उप प्रधान,क्षेत्र पंचायत सदस्य,वन पंचायत सदस्य को सदस्य के रूप में
रखा जायेगा तथा ग्राम पंचायत विकास अधिकारी वन आरक्षी,उद्यान व कृशि अथवा
अन्य किसी सम्बन्धित विभाग के ग्राम स्तरीय अधिकारी /कर्मचारी में से
न्यूनतम एक अधिकारी/कर्मचारी को सदस्य के रूप में जिलाधिकारी नामित
करेंगे। 
जिलाधिकारी
ने सभी उप जिलाधिकारियों,खण्ड विकास अधिकारियों समेत जिला
उद्यान, क्रषि ,डीपीआरओ, जिला युवा कल्याण अधिकारी,सीएमओ,डीडीओ तथा पीडी
डीआरडीए को निर्देषित किया है कि हरेला पर्व पर प्रतिस्पर्धा के तौर पर
अधिक से अधिक पौध रोपण करके पर्यावरण के संवर्धन एवं संरक्षण को बढावा देने
के लिए अधिक से अधिक प्रचार कर अपने स्तर से सभी आवष्यक व्यवस्थायें
सुनिचित कर लें। जिलाधिकारी ने बताया कि हरेला 17 जुलाई को मनाया जायेगा।
उन्होंने अधिकारियों को निर्देष दिये है कि हरेला प्रतिस्पर्धा में चयनित
महिला का नाम उसकी ग्राम पंचायत का नाम/पता तथा महिला के बैंक खाते का
विवरण जिला उद्यान अधिकारी को प्रस्तुत किये जाय।
www.kashipurcity.com & www.adpaper.in – न्यूज़, जॉब अलर्ट, ऑनलाइन डील
शेयर करें

Leave a Reply